Tuesday, June 28, 2011

क्यों नये लग रहे (संगीत )

पल्लव -पंखुड़िया


धीरे -धीरे रात बीती और सूरज की लालिमा ने अपना विस्तार किया चिडियों की चहचाहट के साथ बढ़ती सूरज की किरणों के साथ नयी कलियों और नयी पत्तियों ने अपना आगाज किया नयी पत्तियों की चमक और नयी कलियों की खुशबू से जली भुनी पुराने फूल और पीली और पुरानी पत्तियों से रहा न गया ,उन्होंने कहा तुम लोग तो अभी अभी  इस दुनिया आये हो ,हमारे सामने तुम्हारी कोई  औकात नहीं , ज्यादा इतराओगे तो किसी  की बुरी नज़र लग जाएगी , तोड़ लिए जावोगे ,|






                                      
           




तब नयी कलियों और ने पत्तियों में से एक ने कहा बेशक आपके सामने हमारी कोई विसात नहीं पर कल को आप इन टहनियों से बिखर जायेगे  तो आप की विरासत कौन संभालेगा यदि हमारा उद्भव न हो तो आप का भी कोई औचित्य नहीं रह जायेगा क्यों की आप भी हम में से ही  कभी एक थे ,| और रही बात तोड़ लिए जाने की तो हमारा जीवन सार्थक हो जायेगा व्यर्थ नहीं ..|अब पुराने फूल पत्तो को अपनी सोच , संदेह ,गलतियों का अपने बड़े होने के अहंकार ,झूठे ,मान सम्मान पर पछतावा हो रहा था |, उन्होंने सुबह की मंद -मंद हवा में झूमते हुए ,खुशी से बाहे फैलाकर अपने होने वाले     वंशजो का स्वागत किया और अपनी वास्तविक महानता का परिचय दिया |

इन फूल -पत्तो और परिवर्तन के लिए ...
बसंत को फूलो ने साथ दिया ,
फूल फरेबी बिखर गए तो पत्तो ने इन्साफ किया ,|
पत्तो ने दामन छोड़ा तो पेंड -पौधों ने फरियाद किया ,
कुदरत का करिश्मा फिर वही पेंड -पौधों ने कहा जा मैंने तुझे माफ़ किया |
मोर और चोर में यही अंतर है ,एक मन  चुराता है ,दूसरा धन  ,सदियों युगों से सभी समान होता है ,पर पात्र अलग -अलग होते है, स्वरुप और जगह बदल जाती है ,|इस ज़िन्दगी में जब तक हमारे अनुसार होता है , ये दुनिया बड़ी अच्छी लगती है पर जहा दिल को ,अपेक्षा को चोट लगती है ,सुहाने सपने टूटते है ,| पल भर में वर्षो की खुशिया प्रेम सदा का दर्द बन जाता है ,जो गुजर जाने के बाद भी आइना भी देखने पर दर्द का निशान साफ़ झलकता है ,|
इस दुनिया में अपने आप को साबित करना प्राथमिकता है ,| पर उसे बनाये रखना और हर नयी चुनौतियों को स्वीकार करना और अच्छा व्यक्ति बनने की कोशिश करना ही प्यार और पहचान है ,|
मेरा शायद शिक्षा समय ख़त्म मेरे शिक्षा समय के प्रेरणाश्रोत , व्यक्ति  ;- अमित सिंह (कंप्यूटर शिक्षक ) जय सिंह (खेल शिक्षक ) संदीप सिंह (प्रधानाचार्य )  respected  एन . के , सिंह (वाणिज्य शिक्षक ) 

इसी कहानी की नवीनता के लिए अपने पाठको के लिए ऊपर संगीत भी  प्रस्तुत है ,|


































मेरा उपवास का फोटो 

लेखक ;- बागवान ...रविकान्त यादव  एम् .कॉम २०१० ....

Saturday, June 18, 2011

द्रोणा जैसे गुरु चले गए करन जैसे दानी (संगीत)

शराबी

एक शराबी था ,शराबी था नहीं पर शराब उसे बुला लेती थी ,वह रोज कहता बस कल से नहीं पीयूगा ,लेकिन गाहे बजाहे पी आता था ,ढलती  उम्र थी बच्चे घरवाले कहते पीना छोडो तो वह रकवा कहता तुम लोगो के लिए ही पीता हु ,तुम लोग मुझे भुला दो और मै तुम लोगो को क्यों कि तुम लोगो का पैसा कम हो रहा है ,मेरे मरने कि दुआ करो ,जमाना पूछता आप अच्छे खासे है ,फिर पीते क्यों है ,वह रकवा कहता पिने से थोडा आराम मिल जाता है ,| अच्छा खासा सम्मान था उस शराबी का पर पीकर लोटने से उसे सारी इज्जत हवा हो गयी एक दोस्त ने पुछा पीते क्यों हो ,तो उसने कहा लगता है ,देवदास फिल्म और मधुशाला कविता का असर हो गया है ,यार , कोई साथी इससे ज्यादा वफादार नहीं हो सकता इसलिए पीता हू, ये शराब दुनिया का राजा बना देती है ,रकवा रोज शराब पीकर जिस रास्ते से गुजरता अक्सर दो चार बच्चे उससे आनंद लेते कोई रकवा कि लंगोटी धोती खीच देता तो कोई धुल फ़ेंक देता तरह -तरह से बच्चे उसे परेशान करते ,वह भी मानो बच्चो के बिना बेचैनी महसूस करता ,आज पीकर लोट रहा था ,पर कोई बच्चा दिख नहीं रहा था ,उसने लोटे -लोटे  एक बच्चे से पुछा वो छोटका कहा है ,तो उसने कहा उसका एक्सीडेंट हो गया अस्पताल में है ,छोटका एक गरीब घर का बच्चा था , उस शराबी का सारा नशा हिरन हो गया ,भागे -भागे अस्पताल पहुचा खून दान की आवश्यकता थी ,उसने सारा खून दान में दे दिया ,डॉक्टर आ कर देखते है, तो  वह शराबी अकड़ा पड़ा था ,और उसके मुट्ठी में एक अंग्रेजी में लिखी पर्ची पड़ी थी ,जिस पर लिखा था , मै अपना शरिर भी दान दे रहा हू ,पर आश्चर्य और राज की बात कि शराब ने कभी नशा नहीं किया , हा कुछ रिश्ते जरूर बन गए थे ,|इस तरह वह शराबी अमर शराबी बन गया ,|
जो काम हवाये लहरों के साथ करती है ,दर्द ठीक उसी प्रकार लहरों की तरह हमारे अंतर्मन दिल में ज्वार की तरह उठता रहता है ,उन हवावो की दिशा तो मालूम किया जा सकता है ,| पर उनका कोई अता- पता  नहीं होता शायद ये हवाये भी हमारे दर्द की तरह हलचल से ही उत्पन्न होती है ,| 
जीते तो सभी है ,पर जीवन को सार्थक करना ही जिंदगी का दुसरा नाम है ,|
एक शराबी के लिए ....
पीने वाले तो सिर्फ शराबी होते है ,
जीने वाले तो नबाबी होते है ,|
जिंदगी के नशे के कबाबी होते है , 
बिना पीये ही हर समय नशे के जबाबी होते है ||
एक  अन्य शराबी के लिए ....
जीना है ,तो पीना है ,
क्यों की समाज बड़ा कमीना है ,|
चढ़ गयी तो हिना है ,वरना फिर से पीना है ,
क्यों की जिंदगी खून पसीना है ,















इस शराबी के लिए संगीत ऊपर है ,
लेखक ;- इनके साथी .........रविकांत यादव  एम् .कॉम २०१० 

      

Monday, June 13, 2011

ना रास्ता मालूम ना तेरा नाम पता मालूम -संगीत


मेरा हर गाना नीचे वाले से सम्बंधित होता है ,मेरे लेख से जुडी बात होती है ,

कम आन कंप्यूटर


यह एक मशीन है ,जो मानव मस्तिस्क के सारे कार्य आसान बनाती है ,computer का फुल फॉर्म common operating machine particular users of trade (technology ) education and research है  ,
इसमें आवाज ,भाषा ,चित्र ,रचना , के आलावा इन्टरनेट भी होता है ,इन्टरनेट एक समुद्र की तरह विश्व भर से जोड़ता है ,तो जाहिर है ,इस पर विश्व भर के व्यक्ति मौजूद रहते है ,अलग -अलग कार्य के लिए अलग -अलग software  होता है ,हार्डडिस्क programming के लिए होता है ,| ram  . मेमोरी, सॉफ्टवेर और कार्य तेज़ी के लिए है 
लगभग 83 -90 %   प्रतिशत अंग्रेजी का ही राज चलता है ,|चार्ल्स babbage  (1940 ) की यह मशीन समाज और मनुष्यों को देखकर रची गयी थी ,इसकी लोकप्रियता इसी से पता चलता है ,कि विश्व कंप्यूटर साक्षरता दिवस प्रत्येक वर्ष २ दिसम्बर को पड़ता है ,|जो 
आज इन्टरनेट अर्थात (www ). विश्व  की मशीन बनाने का श्रेय टीम बर्नर ली को जाता है ,हलाकि इस पर लम्बा कार्य चला ,वह जाल जो विश्वा भर में फैला है ,जिसे हिंदी में विश्व विस्तृत जाल कहते है ,|
                                                        




आज के  समय सुपर कंप्यूटर ,परम कंप्यूटर आदि से मंगल ग्रह पर ही नहीं अन्य ग्रह पर भी   रोबोट मशीन भेजकर वहा से सूचना व स्थिति(वातावरण) भी बता देता है ,
वैसे इसका अपना कुछ नहीं होता एक प्रारूप एक यन्त्र को ढालना और उससे कार्य लेना भर है ,क्यों की एक ही कार्य को बार बार किया तो जा सकता है | पर एक कार्य को बार बार न करना पड़े और उसे बहुत आसान बना कर समय बचाना होता है ,जैसे फ्रिज में सभी कुछ रखा जा सकता है ,पर न रखा जाय तो ,मतलब कंप्यूटर का अपना कुछ नहीं होता बस जो चीज़ हम देते है ,उसे लगातार लेते रहते है ,|
कंप्यूटर का अपना कुछ नहीं होता ,जो जानकारी कोई व्यक्ति रखा रहता है ,उसे प्राप्त कर सकते है ,या अपना कुछ स्वयं जोड़ कर समाज में प्रकट कर सकते है ,इसमें सूचना और कागजी लेन देन भी है ,|
सॉफ्टवेर अन्दर के मानव शरिर के भाग है ,जैसे किडनी ,फेफड़े , आदि और hardware शरिर के दिखने वाले अंग जैसे शरिर और उसके भाग ,आँख , हाथ ,पैर ,आदि 
input के अधीन यही है ,जैसे keyboard ,mouse आदि से हम अपनी बात रखते है ,और जो परिणाम हमारे मेहनत प्रयास से मिलता है वो output  हुआ ,जैसे नेट से एक्साम  का  पत्र प्राप्त करना है ,जो पत्र हमें मिला वो प्रिंट हमें मिला वो output हुआ ,||
सारा खेल टूल बार , मेनूबार ,और aaddress bar का होता है ,सारा खेल mouse के   राईट और लेफ्ट क्लिक का है ,आज कल keyboard का का प्रयोग कम है ,पर यह अहम् रोल निभाता है ,जैसे सभी जानकारी और अपने विचार के लिए ,इसकी जानकारी पूर्णता प्रदान करती है ,

हम किसी का पैर छुते है ,तो वो दिशा ,ज्ञान ,और पथ के लिए होता है ठीक उसी प्रकार जिस फाइल  के नीचे mouse कर्सर रखेगे वो उसकी जानकारी और क्षमता बताता है ,अतः यह मानव मस्तिस्क ,प्रकृति और समाज का प्रतिरूप है ,आज कल कंप्यूटर के बच्चे ,भाई ,भतीजे ,भी बाज़ार में लैपटॉप ,pendrive , स्मार्ट फ़ोन ,और मोबाइल के रूप में मिल जाते है ,जो भाषा केवल कंप्यूटर समझे उसे कंप्यूटर की भाषा कहते है ,जैसे एम्बेड कोड और html आदि ,
bilgates जो विश्व के सबसे धनी व्यक्ति है ,वो कंप्यूटर के अन्दर  के अंग ,microsoft  ,सॉफ्टवेर बनाते है ,और इसके लिए कंप्यूटर संपूर्ण ज्ञान के लिए अलग -अलग विश्व भर में पढाई होती है ,और कंप्यूटर के आसिक खुरापाती होते है , कई खुरापाती मेरा लेख हुबहू उसी दिन चोरी कर लेते है , इसलिए मैंने एंटी थेफ्ट लगाया है ,
नेट पर कदम रखना हो तो पहले ईमेल  बनाये ,वैसे गूगल एक बेहतर सर्च engine है ,विकिपीडिया उत्तम जानकारी देने वाला साईट है , अंग्रेजी में साईट का अर्थ स्थान होता है ,विकी answer और याहू सवाल का अच्छा जबाब देते है , नहीं तो एड्रेस बार में ही लिख दे ,वेब पर मित्र चाहने वाले ,तमाम social  networking site ज्वाइन करे   ,
बेस्ट बिंदास टॉप ३० 
हिंदी वेबसाइट के लिए १, webduniya .com  २) aajtak .com  ३) dainikjagran .com  

बेस्ट answer के लिए १,wikianswer ,२)yahooanswer ३)या एड्रेस बार में ही लिखे 

social नेट्वोर्किंग साईट १) orkut २) linkedin ३) facebook ४) twitter ,५)beautyfullpeople .com 

बिलकुल  सुद्ध भारतीय social नेटवर्क के लिए    १) fropper .com २)zoosak .com  ३) hi5 .com  

अपने और अच्छे फोटो के लिए १)flicker २)picasa ....कृपया सभी में जिसमे नहीं है ,.कॉम जोड़े 
या गूगल image भी अपने फोटो देता है ,

सभी हिंदी नए पुराने संगीत (गाने )के लिए १)songspk .com २)mp3hungama .com ३)songblast .com ४)guruji .com    ५) hungama .com ६) hindilyrix .com  for online songs to listen   in.com

जोक्स के लिए १)jokesduniya .com २)funtoosh .com ३)santabanta .com 

गेम के लिए १) zapak .com   on line  चेस के लिए  १)chesscube .com 

नौकरी के लिए ;- shine .com २) naukari .com ३)monster .com  ४) jobfinder ५)job .com

मनचाहा विडियो के लिए ;- १) youtube .com २) allweirdthing .com ३) videojug .com ४) metacafe .com .५)mefeedia .com 

शादी के लिए ;- bharatmatrimony .com  २) shadi .com  ३) jeevansathi .com 

शेयर व्यापर और जानकारी के लिए १) onlinestocktrading .com 

यहाँ आप कॉमिक्स ,बच्चो के gift ,shoping ,screensaver ,घुमने से लेकर रेलवे आदि के ticket और banko के खातो तक पहुच और गति कर सकते है ,

रेलवे के टिकेट के लिए ...१) irctc .co .in 

मूवी (फिल्म ) के लिए १) bharatmovies .com २)  troova .com  

कार्टून के लिए १) bcdb .com  २) dragonballz .com ३)xman .com ४) justiceleague .com ५) ben10 .com  

रोमांच और गुस्सा उतारने के लिए ;- mono -10 .com  (अपने अनुसार कार्टून बनाकर )

उपहार के लिए ;- १) littlehood .com २) homeshop18 .com 

m .b .a वालो के लिए  ;- pagalguy .com    शिक्षा से सम्बंधित ;-shiksha .com  फ्री sms हेतु ;-mycantos .com  

कुछ सिखने के लिए कंप्यूटर आदि ;- agoodplace4all .com 

विज्ञानं रहस्य रोमांच के लिए ;- nasa .com २) granadakids .com या bigbang .com जो नेशनल geographic पर आता है   

किसी सक्सियत जैसे हीरो ,नेता आदि के पूरी जीवनी जानने के लिए ;- उसके  नाम के साथ biography लिख इंटर करे 

सबसे तेज़ वेब browser ;- १) googlecrome २) opera ३) epic  इसमें inbuilt antivirous भी है और सभी भारतीय भाषा के साथ  ४) mozilla firefox ५) internet explorer १ से लेकर ९ तक है  ,

सबसे तेज़ सटीक सर्च engine ;- १) bing  २) google ३) blackobeeta ४)yahoo ५) hakia .com ६) 
altavista .com 

सटीक जानकारी के लिए ;- १) wikipedia .com २) about .com ३)howstuffworks .com ४) walframalpha .com ५) altavista .com ६)hakia .com 

बिंदास फ्री antivirous के लिए (ये सब तरह से सुरक्षा नहीं देते पर सब में कुछ न कुछ ख़ास है ,आप को दौड़ना नहीं पड़ेगा )  ;-१) clamwin .com २)cloudantivirus .com /en / ३)immunet .com ४)avast .com /freeantivirus -download ५) avg .com ६) microsoft .com /security /essentials / ७) antivirus.comodo .com ८) superantispyware .com ९) kaspersky .com १०)malwarebytes .org ११) bitdefender .com १२) stopzilla .com 

अपनी वेबसाइट के लिए ;- blogger .com २) x10hosting .com ३)kompozer .net ४) weebly .com ५) 000webhost .com या फ्री टूल्स वेब पेज creation के लिए adlandpro .com 

ऑनलाइन डाटा storage के लिए pendrive की तरह ;- १)adrive .com २) dropbox .com

एक अजीब दोस्त के लिए ;- indianthefriendofnation .blogspot .com  २)justiceleague -justice .blogspot .com और heykrishna786 @gmail .com  

जाते जाते कंप्यूटर के लिए -
कंप्यूटर चला अंतरिक्ष की ओर ....
चारो तरफ इसका ही शोर ...
अपने श्रम पर अब नहीं रह गया  जोर ---
जागो अब तो हो गयी भोर ,क्यों की ये दिल मांगे मोर ,,,

लेखक ;- भागम भाग से मुक्त रविकांत यादव ....एम् कॉम २०१०