Saturday, November 26, 2011

क्रिकेट की कबड्डी ...?

जिस तरह से आज भारत और वेस्ट इंडीज से आखिरी टेस्ट मैच ड्रॉ हुआ इसमे कोई संदेह नहीं की वास्तविक मैच तो सटोरी और आयोजक करने वाली  कंपनिया खेलती है , इसमे कोई संदेह नहीं की ये मैच फिक्स था ,| ऐसा लगा मानो सभी खिलाड़ी खेलवाड़ खेल कर आउट होते गए , कुछ तो मानो पहले से ही ,ड्रॉ मान कर खेल रहे थे, दो -तीन के अलावा  कोई  जीतने के लिए नहीं खेलता नजर आया , हमारी भारत की जनता बेवकूफ नहीं है ,1 अरब भारतीय जनता उन्हे बेवकूफ नजर आती है ,? | ये मैच जरूर फिक्स था , क्यो की आप को रन चाहिए , आप गेंद  डॉट कर दे, और तो और दो रन की जगह एक ही रन निश्चित कर भागना, जैसा की आखिरी गेंद पर हुआ, जबकि ड्रॉ तो निश्चित ही था , फिर किस बात पर अस्विन का ड्रॉ के लिए ही खेलना ये बात समझ से परे है , |

आप recorded विडियो  भी  देखे तो खिलाड़ियो की हकीकत दिख जाती है ,|
मानो ये कुछ गद्दार खिलाड़ी बस ड्रॉ के लिए ही खेल रहे थे , इसके पीछे या तो बड़े लोग थे ,या सटोरिये थे , या आयोजक कराने वाली कंपनी air tel कंपनी जो भी  हो  1 अरब भारतीय  जनता  टुकुर-टुकुर ताकती रहती है  , तो बेवकूफ है ,| जीतता मैच हारने की तरफ पहुच गया , फिर जीतने के लिए नहीं ड्रॉ के लिए खेला गया ,| ये मैच फिक्स कराने ,जीताने  ,हराने के खेल के पीछे पैसे की चकचौध और देश के  गद्दार खिलाड़ी है ,| ऐसे एक अरब भारतीय जनता से विश्वासघात करने वाले गद्दार खिलाड़ियो की कोई जरूरत नहीं , इस मैच की जांच होनी चाहिए , गद्दार खिलाड़ियो की परंपरा नयी  , नहीं है ,|

एक गंदी मछ्ली सारे तलाब को जहरीला बना देती है , खिलाड़ी कोई भी हो अगर उसके लिए देश प्रथम नहीं है , तो वह कितना विकेट लेता है , कितना रन बनाता है ,इससे कोई मतलब नहीं , तुरंत नये खिलाड़ियो को मौका मिले , जांच न होने से ही ऐसे खिलाड़ी शान से घूमते रहते है , अतः इस मैच की जांच हो , क्यो की खेल के ये खिलाड़ी ही दागदार ,और पचासों बार मैच फिक्सिंग , और सट्टा जैसी आदि बाते करते रहते है ,|

                                   
                                                    लेखक;- दर्शक .........रविकांत यादव
               also click me ;-http://indianthefriendofnation.blogspot.com/2011/11/blog-post.html